Shayari On Eyes | Aankhein Shayari In Hindi For Friends And Love

Eye shayari in Hindi for girlfriend and wife

Shayari On Eyes: If you want to get the best Shayari On Eyes and share it with your friends then We are providing Latest Collection of Shayari like best Eye Shayari for Girlfriend and Wife, Heart Touching Eye Shayari, Emotional Eye Shayari, Attitude Eye Shayari for girl. I hope you liked this English & Hindi Shayari On Eyes collection. You will get all the Latest and updated collection of Shayari On Eyes in Hindi. Also Check our updated Dil Shayari and Friendship Shayari.

Shayari On Eyes in Hindi for Friends and Love

  • Wo Bolte Rahe… Ham Sunte Rahe…
    Jawaab Aankhon Mein Tha Wo Jubaan Mein Dhoondhte Rahe.

 

  • वो बोलते रहे… हम सुनते रहे…
    जवाब आँखों में था वो जुबान में ढूंढते रहे।

 

  • Ikraar Mein Shabdon Ki Ehamiyat Nahin Hoti,
    Dil Ke Jazbaat Ki Aavaaz Nahin Hoti,
    Aankhein Bayan Kar Deti Hain Dil Ki Dastaan,
    Mohabbat Lafjon Ki Mohtaaj Nahin Hoti.

 

  • इकरार में शब्दों की एहमियत नहीं होती,
    दिल के जज़्बात की आवाज़ नहीं होती,
    आँखें बयान कर देती है दिल की दास्तान,
    मोहब्बत लफ्जों की मोहताज नहीं होती।

 

  • Kabhi To Aasmaan Se Chand Utare Jaam Ho Jaye,
    Tumhare Naam Ki Ik Khoobasurat Shaam Ho Jaye,
    Hamara Dil Savere Ka Sunhara Jaam Ho Jaye,
    Charagon Ki Tarah Aankhen Jalen Jab Shaam Ho Jaye.

 

  • कभी तो आसमाँ से चांद उतरे जाम हो जाये,
    तुम्हारे नाम की इक ख़ूबसूरत शाम हो जाये,
    हमारा दिल सवेरे का सुनहरा जाम हो जाये,
    चराग़ों की तरह आँखें जलें जब शाम हो जाये।

 

  • Ulft Mein Kabhi Yah Haal Hota Hai,
    Aankhen Hasti Hain Magar Dil Rota Hai,
    Maante Hain Ham Jise Manzil Apni,
    Hamsafar Uska Koi Aur Hota Hai.

 

  • उल्फ़त में कभी यह हाल होता है,
    आँखें हस्ती हैं मगर दिल रोता है,
    मानते हैं हम जिसे मंज़िल अपनी,
    हमसफ़र उसका कोई और होता है।

Best Nigah Shayari Collection

  • Teri Nigah Dil Se Jigar Tak Utar Gayi,
    Dono Ko Hi EkAda Mein Rajamand Kar Gayi.

 

  • तेरी निगाह दिल से जिगर तक उतर गयी,
    दोनों को ही एकअदा में रजामंद कर गई।

 

  • Faryaad kar rahi hein tarasti hui nigahein,
    Dekhe huye kisi ko… bohut din guzar gaye.

 

  • फर्याद कर रही हैं तरसती हुई निगाहें,
    देखे हुए किसी को… बहुत दिन गुज़र गए।

 

  • Fir Teri Nigahon Ko Aaina Banaya Hai,
    Fir Muddaton Baad Ye Husn Nikhar Aaya Hai.

 

  • फिर तेरी निगाहों को आइना बनाया है,
    फिर मुद्दतों बाद ये हुस्न निखार आया है।

 

  • Meri Nigah-E-Shauq Bhi Kuch Kam Nahi Magar,
    Phir Bhi Tera Shabab Tera Hi Shabab Hai.

 

  • मेरी निगाह-इ-शौक़ भी कुछ कम नहीं मगर,
    फिर भी तेरा शबाब तेरा ही शबाब है।

 

  • Teri Nigah Main, Ek Rang-E-Ajnabiyat Tha,
    Kis Aitebar Pe Hum Khul Ke Guftugu Karte.

 

  • तेरी निगाह में, एक रंग-ए-अजनबियत था,
    किस ऐतेबार पे हम खुल के गुफ्तुगू करते।

 

  • Nigahe Bolti Hain Jab Juba Khamosh Rehti Hai,
    Dilo Ki Dhadkane Hi Tab Dilo Ki Bat Kehti Hain.

 

  • निगाहे बोलती हैं जब जुबा खामोश रहती है,
    दिलों की धड़कने ही तब दिलों की बात कहती हैं।

 

  • Udhar Se Chand Tum Dekho…Idhar Se Chand Hum Dekhen,
    Nigahein Yun Takrayein Ki Do Dilon Ki Eid Ho Jaye.

 

  • उधर से चाँद तुम देखो…इधर से चाँद हम देखें,
    निगाहें यूँ टकरायें की दो दिलों की ईद हो जाये।

 

  • Aankhon Par Teri Nigahon Ne Dastkhat Kya Kie,
    Hamne Sanson Ki Vasiyat Tumhare Naam Kar Di.

 

  • आँखों पर तेरी निगाहों ने दस्तख़त क्या किए,
    हमने साँसों की वसीयत तुम्हारे नाम कर दी।

हिंदी में आँखों पर बेहतरीन शायरी

  • Jo Soorur Hai Teri Aankhon Mein Vo Baat Kahaan Maikhane Mein,
    Bas Tu Mil Jaye To Phir Kya Rakha Hai Zamane Mein.

 

  • जो सूरुर है तेरी आँखों में वो बात कहां मैखाने में,
    बस तू मिल जाए तो फिर क्या रखा है ज़माने में।

 

  • Main Un Aankhon Ke Maikhaane Mein Kuchh Der Baitha Tha,
    Mujhe Duniya Nashe Ka Aaj Bhi Aadi Batati Hai.

 

  • मैं उन आँखों के मैख़ाने में कुछ देर बैठा था,
    मुझे दुनिया नशे का आज भी आदी बताती है।

 

  • Kisi Ne Dhool Kya Jhonki Aakhon Mein,
    Pahle Se Behtar Dikhne Laga Hamein.

 

  • किसी ने धूल क्या झोंकी आखों में,
    पहले से बेहतर दिखने लगा हमें।

 

  • Ham Nahi Aate Is Dar Se Teri Chaukhat Par Mere Hamdam,
    Suna Hai Teri Jadoo Bhari Aankhon Ka Tona Bada Mashhoor Hai.

 

  • हम नही आते इस डर से तेरी चौखट पर मेरे हमदम,
    सुना है तेरी जादू भरी आँखों का टोना बडा मशहूर है।

 

  • Dekhkar Kajal Ki Lakeeren Unki Aankhon Mein,
    Pahli Dafa Ye Jana Ki Ye Chaand Ki Khoobsurati Raat Se Kyun Hai.

 

  • देखकर काजल की लकीरें उनकी आँखों में,
    पहली दफ़ा ये जाना कि ये चाँद की ख़ूबसूरती रात से क्यूं है।

 

  • Aankh Se Door Na Ho Dil Se Utar Jaega,
    Waqt Ka Kya Hai Gujarta Hai Gujar Jaega.

 

  • आँख से दूर न हो दिल से उतर जाएगा
    वक़्त का क्या है गुजरता है गुजर जाएगा।

Shayari On Eyes Depth In Hindi

  • Sagar Se Gahri Hain Aapki Ye Najren,
    Khushiyon Ki Shahnai Hain Aapki Ye Najren,
    Husn Ka Jaam Hain Aapki Ye Najaren,
    Chhupayen Kai Armaan Aapki Ye Najren,
    Le Le Na Kahin Hamari Jaan Aapki Ye Najaren

 

  • सागर से गहरी हैं आपकी ये नजरें,
    खुशियों की शहनाई हैं आपकी ये नजरें,
    हुस्न का जाम हैं आपकी ये नजरें,
    छुपायें कई अरमान आपकी ये नजरें,
    ले ले न कहीं हमारी जान आपकी ये नजरें।

 

  • Wo Aapka Palke Jhuka Ke Muskurana,
    Wo Aapka Najren Jhuka Ke Sharmana,
    Baise Aapko Pata Hai Ya Nahin Ham Nahin Jante,
    Par Is Dil Ko Mil Gaya Hai Nazrana Uska.

 

  • वो आपका पलके झुका के मुस्कुराना,
    वो आपका नजरें झुका के शर्माना,
    वैसे आपको पता है या नहीं हम नहीं जानते,
    पर इस दिल को मिल गया है नज़राना उसका।

 

  • Kaash Hamare Vadon Ka Matlab Wo Samajhte,
    Kaash Us Khamoshi Ka Matlab Wo Samajhte,
    Najar Milti Hai Hazaron Najron Se,
    Kaash Hamari Nazron Ka Matlab Wo Samajhte.

 

  • काश हमारे वादों का मतलब वो समझते,
    काश उस खामोशी का मतलब वो समझते,
    नजर मिलती है हज़ारों नजरों से,
    काश हमारी नज़रों का मतलब वो समझते।

 

  • Khudko Khudki Khabar Na Lage
    Koi Achchha Bhi Is Kadar Na Lage,
    Tumko Dekha Hai Us Najar Se
    Jis Najar Se Tumko Najar Na Lage.

 

  • खुदको खुदकी खबर न लगे
    कोई अच्छा भी इस कदर न लगे,
    तुमको देखा है उस नजर से
    जिस नजर से तुमको नजर न लगे।

New Ankhein Shayari

  • Usne Aankhon Se Aankhein Jab Mila Di,
    Humari Zindagi Jhoom Kar Muskura Di,
    Jubaan Se To Hum Kuchh Na Kah Sake,
    Par Aankhon Ne Dil Ki Kahani Suna Di.

 

  • उसने आँखों से आँखें जब मिला दी,
    हमारी ज़िन्दगी झूम कर मुस्कुरा दी,
    जुबान से तो हम कुछ न कह सके,
    पर आँखों ने दिल की कहानी सुना दी।

 

  • Madhhosh Aankhon Se Wo Jab Hamen Dekhte Hain,
    Hum Ghabra Ke Apni Palken Jhuka Lete Hain,
    Kaise Milaaye Hum Un Aankhon Se Aankhein,
    Suna Hai Wo Aankhon Se Apna Bana Lete Hai.

 

  • मदहोश आंखो से वो जब हमें देखते हैं,
    हम घबरा के अपनी पलके झुका लेते हैं,
    कैसे मिलाए हम उन आँखों से आँखें,
    सुना है वो आँखों से अपना बना लेते हैं।

 

  • Jab Se Dekha Hai Teri Aankhon Mein Jhank Kar,
    Koi Bhi Aaina Achchha Nahin Lagta,
    Tere Ishq Mein Aise Huye Hain Deewane Ham,
    Koi Aur Dekhe Tujhe To Achchha Nahin Lagta.

 

  • जब से देखा है तेरी आँखों में झाँककर,
    कोई भी आईना अच्छा नहीं लगता,
    तेरे इश्क में ऐसे हुए हैं दीवाने हम,
    कोई और देखे तुझे तो अच्छा नहीं लगता।

 

  • Deewane Hain Tere, Is Baat Se Inkaar Nahin,
    Kaise Kahen Ki Hamen Tumse Pyar Nahin,
    Kuchh To Kasoor Hai Teri In Aankhon Ka,
    Ham Akele To Gunhagaar Nahin.

 

  • दीवाने हैं तेरे, इस बात से इंकार नहीं,
    कैसे कहें कि हमें तुमसे प्यार नहीं,
    कुछ तो कसूर है तेरी इन आँखों का,
    हम अकेले तो गुनहगार नहीं।

 

  • Kabhi Yun Bhi Aa Meri Aankhon Mein,
    Ki Meri Aankhon Ko Khabar Na Ho,
    Tujhe Bhoolne Ki Duayen Karoon,
    To Duaon Mein Meri Asar Na Ho.

 

  • कभी यूँ भी आ मेरी आँखों में,
    कि मेरी आँखों को खबर न हो,
    तुझे भूलने की दुआयें करूँ,
    तो दुआओं में मेरी असर ना हो।

 

  • Deewane Hain Tere, Is Baat Se Inkaar Nahin,
    Kaise Kahen Ki Hamen Tumse Pyar Nahin,
    Kuchh To Kasoor Hai Teri In Aankhon Ka,
    Ham Akele To Gunhagaar Nahin.

 

  • दीवाने हैं तेरे, इस बात से इंकार नहीं,
    कैसे कहें कि हमें तुमसे प्यार नहीं,
    कुछ तो कसूर है तेरी इन आँखों का,
    हम अकेले तो गुनहगार नहीं।

 

  • Kabhi Yun Bhi Aa Meri Aankhon Mein,
    Ki Meri Aankhon Ko Khabar Na Ho,
    Tujhe Bhoolne Ki Duayen Karoon,
    To Duaon Mein Meri Asar Na Ho.

 

  • कभी यूँ भी आ मेरी आँखों में,
    कि मेरी आँखों को खबर न हो,
    तुझे भूलने की दुआयें करूँ,
    तो दुआओं में मेरी असर ना हो।

 

  • Raat Gum Sum Hai Magar Khaamosh Nahi,
    Kaise Kah Doon Aaj Phir Hosh Nahi,
    Aise Dooba Hoon Teri Aankhon Ki Gahrai Mein,
    Haath Mein Jaam Hai Magar Peene Ka Hosh Nahi.

 

  • रात गुम सुम है मगर खामोश नही,
    कैसे कह दूँ आज फिर होश नही,
    ऐसे डूबा हूँ तेरी आँखों की गहराई में,
    हाथ में जाम है मगर पीने का होश नही।

 

  • Aankhon Mein Na Hamko Dhoondho Sanam,
    Dil Mein Ham Bas Jaenge,
    Chahat Hai Agar Milne Ki To,
    Soti Aankhon Mein Bhi Ham Nazar Aaenge.

 

  • आँखों में ना हमको ढूंढो सनम,
    दिल में हम बस जाएंगे,
    चाहत है अगर मिलने की तो,
    सोती आँखों में भी हम नज़र आएंगे।

 

  • In Ras Bhari Aankhon Mein Haya Khel Rahi Hai,
    Do Zahar Ke Pyalon Mein Qaza Khel Rahi Hai.

 

  • इन रस भरी आंखों में हया खेल रही है,
    दो ज़हर के प्यालों में क़ज़ा खेल रही है।

 

  • Karishma Zaroor Hai… Aankhon Mein Teri Koi,
    Tu Jisko Dekhle Vo Bahakta Zaroor Hai.

 

  • करिश्मा ज़रूर है… आँखों में तेरी कोई,
    तू जिसको देखले वो बहकता ज़रूर है।

 

  • Shayari Mein Jo Likhe The Lafz Sare Fheeke Se The Mere,
    Shayari To Darsal… Teri Un Aankhon Mein Thi.

 

  • शायरी में जो लिखे थे लफ़्ज़ सारे फीके से थे मेरे,
    शायरी तो दरअसल… तेरी उन आँखों में थी।

 

  • Dhoondhte Kya Ho… Aankhon Mein Kahani Meri,
    Khud Mein Khoye Rahna To Aadat Hai Purani Meri.

 

  • ढूंढते क्या हो… आँखों में कहानी मेरी,
    खुद में खोये रहना तो आदत है पुरानी मेरी।

Latest Shayari On Eys For Girlfriend or Wife

  • Ek Najar Dekh Le Hume Jeene Ki Izazat De De,
    Ai Ruthne Wale… Wo Pahli Si Mohabbat De De.

 

  • एक नजर देख ले हमे जीने की इजाजत दे दे,
    ए रुठने वाले… वो पहली सी मोहब्बत दे दे।

 

  • Jab Bhi Dekhta Hun Mujhse HarBar Nazaren Chura Leti Hai,
    Maine Kagaz Par Bhi Bna Ke Dekhi Hain Aankhen Uski.

 

  • जब भी देखता हूँ मुझसे हरबार नज़रें चुरा लेती है,
    मैंने कागज़ पर भी बना के देखी हैं आँखें उसकी।

 

  • Jhuki Jhuki Najar Teri, Kamal Kar Jaati Hai,
    Uthti Hai Ek Baar To, Sawaal Kar Jaati Hai.

 

  • झुकी झुकी नजर तेरी, कमाल कर जाती है,
    उठती है एक बार तो, सवाल कर जाती है।

 

  • Pyar Ke Phool Khilte Hain Teri Madhosh Aankhon Mein,
    Jahan Dekhe Tu Ek Najar Bahan Khushabu Bikhar Jaye.

 

  • प्यार के फूल खिलते हैं तेरी मदहोश आंखों में,
    जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए।

 

  • Hazaron Teer Zamane Ke Ek Teer-e-Najar Uska,
    Ab Kya Samjhega Koi…Dil Kiska Nishana Hai.

 

  • हजारों तीर जमाने के एक तीर-ए-नजर उसका,
    अब क्या समझेगा कोई दिल किसका निशाना है?

 

  • Main Ta Umr Jinko Koi De Na Saka Jabaab,
    Wo Ek Najar Mein Hajaron Sawalaat Kar Gaye.

 

  • मैं ता उम्र जिनको कोई दे न सका जबाब,
    वो एक नजर में हजारों सवालात कर गए।

Two Line Shayari On Eyes

  • Kaid Khane Hain… Bin Salakhon Ke,
    Kuchh Yun Charche Hain Tumhari Aankhon Ke.

 

  • कैद खानें हैं… बिन सलाखों के,
    कुछ यूँ चर्चे हैं तुम्हारी आँखों के।

 

  • Khuda Bachaye Teri In Mast Aankhon Se,
    Farishte Bhi Bahek Jayne Aadmi Kya Hai.

 

  • ख़ुदा बचाए तेरी इन मस्त आँखों से,
    फ़रिश्ते भी बहक जायें आदमी क्या है।

 

  • Rakh Lo Aaine Hazaar Tasalli Ke Liye,
    Par Sach Ke Liye To, Aankhen Hi Milani Padengi.

 

  • रख लो आईने हज़ार तसल्ली के लिए,
    पर सच के लिए तो,आँखें ही मिलानी पड़ेंगी।

 

  • Ek Doosare Se Bichhad Ke Kitne Rangeele Ho Gaye,
    Meri Aankhen Laal… Aur Tere Haath Peele Ho Gaye.

 

  • एक दूसरे से बिछड़ के कितने रंगीले हो गये,
    मेरी आँखें लाल… और तेरे हाथ पीले हो गये।

 

  • Taras Gayi Hain… Tumhe Dekhne Ko Ye Aankhein,
    Thaki-Thaki Hain, Par Palaken Uthaye Baithe Hain.

 

  • तरस गयी हैं… तुम्हे देखने को ये आँखें,
    थकी-थकी हैं, पर पलकें उठाये बैठे है।

 

  • Talab Kare To Main Apni Aankhen Bhi Unhen Dedun,
    Magar Ye Log Meri Aankhon Ke Khwab Maangte Hain.

 

  • तलब करे तो मैं अपनी आँखें भी उन्हें देदू,
    मगर ये लोग मेरी आँखों के ख्वाब मांगते हैं।

 

  • Meri Aankhon Me Jhankane Se Pahle Zara Soch Lijie,
    Jo Hamne Palke Jhuka Li To Qayamat Hogi….

 

  • मेरी आँखों में झाँकने से पहले ज़रा सोच लीजिए,
    जो हमने पलके झुका ली तो क़यामत होगी…।

Leave a Reply

Your email address will not be published.