Dard Bhari Shayari | Painful Shayari In Hindi For Girlfriend & Boyfriend

Dard Bhari shayari in Hindi

Dard Bhari Shayari: If you want to get the best Dard Bhari Shayari and share it with your friends then We are providing Latest Collection of Shayari like best Dard Shayari, Heart Touching Painful Shayari, Attitude Painful Shayari. I hope you liked this English & Hindi Dard Shayari collection. You will get all the Latest and updated collection of Dard Bhari Shayari in Hindi. Also Check our updated Love Shayari and Motivational Shayari.

Dard Bhari Shayari in Hindi for Friends and Love

  • Teri Mohabbat Mein Ham Baithen Hain Chot Khay,
    Jiska Hisab Na Ho Sake Utne Dard Hamne Paye,
    Phir Bhi Tere Pyar Ki Kasam Khake Kahta Hoon,
    Hamare Lab Par Tere Liye Sirf Aur Sirf Dua Aaye.

 

  • तेरी मोहब्बत में हम बैठें हैं चोट खाए,
    जिसका हिसाब न हो सके उतने दर्द हमने पाये,
    फिर भी तेरे प्यार की कसम खाके कहता हूँ,
    हमारे लब पर तेरे लिये सिर्फ और सिर्फ दुआ आये।

 

  • Bheed Mein Bhi Tanha Rahna Mujhko Sikha Diya
    Teri Mohabbat Ne Duniya Ko Jhootha Kahna Sikha Diya,
    Kisi Dard Ya Khushi Ka Ehsaas Nahin Hai Ab To,
    Sab Kuchh Zindagi Ne Chup-Chaap Sahna Sikha Diya.

 

  • भीड़ में भी तन्हा रहना मुझको सिखा दिया,
    तेरी मोहब्बत ने दुनिया को झूठा कहना सिखा दिया,
    किसी दर्द या ख़ुशी का एहसास नहीं है अब तो,
    सब कुछ ज़िन्दगी ने चुप-चाप सहना सिखा दिया।

 

  • Aisa Dard Mila Hai Hamen Jisaki Dava Nahin,
    Phir Bhi Khush Hoon Us Se Koi Shikava Nahin,
    Aur Kitne Aansoo Bahaoon Us Ke Liye,
    Rab Ne Jisko Mere Naseeb Mein Likha Hi Nahin.

 

  • ऐसा दर्द मिला है हमें जिसकी दवा नहीं;​
    ​फिर भी खुश हूँ उस से कोई शिकवा नहीं​,
    ​​और कितने आंसू बहाऊँ उस के लिए​,
    रब ने जिसको मेरे नसीब में लिखा ही नहीं।

 

  • Na Samajh The Vo Na Itna Doston,
    Ki Pyaar Ko Vo Mere Samajh Na Sake,
    Pesh Kiya Dard-E-Dil Hamne,
    Use Vo Sher Samajh Baithe….

 

  • ना समझ थे वो ना इतना दोस्तों,
    कि प्यार को वो मेरे समझ ना सके,
    पेश किया दर्द-ए-दिल हमने,
    उसे वो शेर समझ बैठे…।

 

  • Jamane Me kisi Par Aitbaar Mat Karna,
    Kisi Ki Chahat Mein Dil Bekarar Mat Karo,
    Ya To Haunsla Rakho Dard-E-Dil Sahne Ka,
    Ya Phir Kisi Se Ishq Mat Karo.

 

  • ज़माने में किसी पर ऐतबार मत करना,
    किसी की चाहत में दिल बेकरार मत करो,
    या तो हौंसला रखो दर्द-ए-दिल सहने का,
    या फिर किसी से इश्क मत करो।

 

  • Hamari Har Khushi Ka Ehsaas Tumhara Ho,
    Tumhare Har Gam Ka Dard Hamara Ho,
    Mar Jaayen To Hame Koi Gam Nahin,
    Bas Aakhiri Wakt Tak Sath Tumhara Ho.

 

  • दुनिया की सारी खुशियों का एहसास तुम्हारा हो,
    तुम्हारे हर गम का दर्द हमारा हो,
    मर जायें तो हमे कोई गम नहीं,
    बस आखिरी वक्त तक साथ तुम्हारा हो।

 

  • Aaj Ki Raat Mera Dard Mohabbat Sun Le,
    Kap Kapate Hue Honthon Ki Shikayat Sun Le,
    Aaj Izahare Khayalat Ka Mauka De De,
    Ham Tere Shahar Mein Aaye Hain, Musaafir Ki Tarah.

 

  • आज की रात मेरा दर्द मोहब्बत सुन ले,
    कप कपाते हुए होंठों की शिकायत सुन ले,
    आज इज़हारे ख़यालात का मौका दे दे,
    हम तेरे शहर में आये हैं, मुसाफिर की तरह।

 

  • Wo Karte Hain Baat Mohabbat Ki Hamse ,
    Par Mohabbat Ke Dard Ka Unhen Ehsaas Nahin,
    Ishq Wo Chaand Hai Jo Dikhta To Hai Sabko,
    Par Use Pana Sab Ke Bas Ki Baat Nahin.

 

  • वो करते हैं बात मोहब्बत की हमसे ,
    पर मोहब्बत के दर्द का उन्हें एहसास नहीं,
    इश्क़ वो चाँद है जो दिखता तो है सबको,
    पर उसे पाना सब के बस की बात नहीं।

 

  • Us Dil Se Pyar Karo Jo Dard Na De,
    Lekin Us Dil Ko Dard Na Do Jo Tumse Pyar Kare,
    Kyonki Tum Duniyan Ke Liye Ek Ho,
    Par Kisi Ek Ke Liye Tum Poori Duniyaan Ho.

 

  • उस दिल से प्यार करो जो दर्द ना दे,
    लेकिन उस दिल को दर्द ना दो जो तुमसे प्यार करे,
    क्योंकि तुम दुनियां के लिए एक हो,
    पर किसी एक के लिए तुम पूरी दुनियां हो।

 

  • Iss Tarah Meri Taraf Mera Maseeha Dekhe,
    Dard Dil Mein Hi Rahe Aur Davaa Ho Jaye.

 

  • इस तरह मेरी तरफ मेरा मसीहा देखे,
    दर्द दिल में ही रहे और दवा हो जाए।

 

  • Wo Jaan Gayi Thi Hame Dard Mein Muskurane Aadat Hai,
    Deti Thi Naya Zakhm Woh Roj Meri Khushi Ke Liye.

 

  • वो जान गयी थी हमें दर्द में मुस्कराने की आदत है,
    देती थी नया जख्म वो रोज मेरी ख़ुशी के लिए।

 

  • Maujuja Kaash Dikha De Yeh Nigaahein Meri,
    Lafz Khamosh Rahein Baat Adaa Ho Jaye.

 

  • मौजूजा काश दिखा दे ये निगाहें मेरी,
    लफ्ज खामोश रहें बात अदा हो जाए।

 

  • Iss Tarah Zurm Ke Ehsaas Ko Bedaar Karo,
    Jism Aazad Rahe Aur Sazaa Ho Jaye

 

  • इस तरह जुर्म के अहसास को बेदार करो,
    जिस्म आजाद रहे और सजा हो जाए।

 

  • Uss Ko Main Dekhun Toh Iss Tarah Se Dekhun,
    Sharm Aankhon Mein Rahe Aur Khataa Ho Jaye.

 

  • उस को मैं देखूं तो इस तरह से देखूं,
    शर्म आंखों में रहे और खता हो जाए।

 

  • Jaan Gaya Wo Hamen Dard Mein Bhi Muskurane Ki Aadat Hai,
    Isaliye Wo Roz Naya Duhkh Deta Hai Meri Khushi Ke Liye.

 

  • जान गया वो हमें दर्द में भी मुस्कुराने की आदत है,
    इसलिए वो रोज़ नया दुःख देता है मेरी ख़ुशी के लिए।

 

  • ilaaj-e-Dard-e-Dil Tumse Mere Maseeha Ho Nahi Sakta,
    Tum Achha Kar Nahi Sakte Main Achha Ho Nahi Sakta.

 

  • इलाजे-दर्दे-दिल तुमसे मेरे मसीहा हो नहीं सकता,
    तुम अच्छा कर नहीं सकते मैं अच्छा हो नहीं सकता।

 

  • Awaaz Mein Thehraao Tha Ankhon Mein Nami Si Thi,
    Aur Kah Raha Tha Maine Sab Kuchh Bhula Diya.

 

  • आवाज़ में ठहराव था आँखों में नमी सी थी,
    और कह रहा था मैंने सब कुछ भुला दिया।

 

  • Zakhm De Kar Na Poochh Dard Ki Shiddat,
    Dard To Fir Dard Hai Kam Kya Jyada Kya.

 

  • ज़ख्म दे कर ना पूछ तू मेरे दर्द की शिद्दत,
    दर्द तो फिर दर्द है कम क्या ज्यादा क्या।

 

  • Ishq Karne Walon Ka Yahi Hashr Hota Hai,
    Dard-E-Dil Hota Hai, Rah Rah Ke Seene Mein,
    Band Honth Kuchh Na Kuchh Gunagunate Hi Rahte Hain,
    Khaamosh Nigahon Ka Bhi Gahara Asar Hota Hai.

 

  • इश्क करने वालों का यही हश्र होता है,
    दर्द-ए-दिल होता है, रह रह के सीने में,
    बंद होंठ कुछ ना कुछ गुनगुनाते ही रहते हैं,
    खामोश निगाहों का भी गहरा असर होता है।

 

  • Gam Ke Dariya Se Milkar Bana Hai Yah Sagar,
    Tum Kyon Ismen Samane Ki Koshish Karte Ho,
    Kuchh Nahin Hai Aur Is Jeevan Mein Dard Ke Siwa,
    Tum Kyon Zindagi Mein Aane Ki Koshish Karte Ho.

 

  • ग़म के दरिया से मिलकर बना है यह सागर,
    तुम क्यों इसमें समाने की कोशिश करते हो,
    कुछ नहीं है और इस जीवन में दर्द के सिवा,
    तुम क्यों ज़िंदगी में आने की कोशिश करते हो।

 

  • Zakhm Jab Mere Seene Ke Bhar Jaenge,
    Aansoo Bhi Moti Ban Ke Bikhar Jaenge,
    Ye Mat Poochhna Kisne Dard Diya,
    Warna Kuchh Apnon Ke Sar Jhuk Jaenge.

 

  • ज़ख्म जब मेरे सीने के भर जाएंगे,
    आंसू भी मोती बन के बिखर जाएंगे,
    ये मत पूछना किसने दर्द दिया,
    वरना कुछ अपनों के सर झुक जाएंगे।

 

  • Har Khushi Ke Pahaloo Haathon Se Chhoot Gaye,
    Ab To Khud Ke Saaye Bhi Hamse Rooth Gaye,
    Haalaat Hain Ab Aise Zindagi Mein Hamari,
    Pyaar Ki Raahon Mein Ham Khud Hi Toot Gaye.

 

  • हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट गए,
    अब तो खुद के साये भी हमसे रूठ गए,
    हालात हैं अब ऐसे ज़िंदगी में हमारी,
    प्यार की राहों में हम खुद ही टूट गए।

 

  • Ham Roothe Dilon Ko Manane Mein Rah Gaye,
    Gairon Ko Apna Dard Sunane Mein Rah Gaye,
    Wo Hamare Itne Kareeb Se Guzar Gayi,
    Ham Doosaron Ko Rasta Dikhane Mein Rah Gaye.

 

  • हम रूठे दिलों को मनाने में रह गए,
    गैरों को अपना दर्द सुनाने में रह गए,
    वो हमारे इतने करीब से गुज़र गयी,
    हम दूसरों को रास्ता दिखाने में रह गए।

 

  • Teri Mohabbat Mein Sab Kuchh Luta Baithe,
    Ham Zindagi Bhi Apni Ganwa Baithe,
    Ab Jeene Ki Tamanna Bhi Nahin Baaki,
    Saare Armaan Ham Apne Dafna Baithe.

 

  • तेरे मोहब्बत में सब कुछ लुटा बैठे,
    हम ज़िंदगी भी अपनी गँवा बैठे,
    अब जीने की तमन्ना भी नहीं बाकी,
    सारे अरमान हम अपने दफना बैठे।

 

  • Hawa Se Lipti Hui Siskiyon Se Lagta Hai,
    Meri Kahani Fir Kisi Ashiq Ne Dhohrayi Hai.

 

  • हवा से लिपटी हुयी सिसकियों से लगता है,
    मेरी कहानी फिर किसी आशिक ने दोहराई है।

 

  • Phir Kahin Se Dard Ke Sikke Milenge,
    Ye Hatheli Aaj Phir Khujla Rahi Hai.

 

  • ​फिर कहीं से दर्द के सिक्के मिलेंगे​,
    ये हथेली आज फिर खुजला रही है​।

 

  • Humne Socha Tha Ke Batayenge Dil Ka Dard Tumko,
    Par Tumne Itna Bhi Na Puchha Ke Khamosh Kyun Ho.

 

  • हमने सोचा था कि… बताएंगे दिल का दर्द तुमको,
    पर तुमने तो इतना भी न पूछा कि खामोश क्यों हो।

 

  • Log Kehte Hain Ki Har Dard Ki Ek Had Hoti Hai,
    Shayad Unhonein Mera Hadon Se Gujarana Nahi Dekha.

 

  • लोग कहते है कि हर दर्द की एक हद होती है,
    शायद उन्होंने मेरा हदों से गुजरना नहीं देखा।

 

  • Badle Toh Nai Hain Woh Dil-o-Jaan Ke Qareene,
    Aankhon Ki Jalan Dil Ki Chubhan Ab Bhi Wahi Hai.

 

  • बदले तो नहीं हैं… वो दिल-ओ-जान के क़रीने,
    आँखों की जलन दिल की चुभन अब भी वही है।

 

  • Labo Par Jab Kisi Ke Dard Ka Afsana Aata Hai,
    Hamen Rah-Rah Kar Apna Dil-E-Deewana Aata Hai.

 

  • लबो पर जब किसी के दर्द का अफ़साना आता है,
    हमें रह-रह कर अपना दिल-ए-दीवाना आता है।

 

  • Waqt Har Zakhm Ka Marham Ton Ban Nahi Sakta,
    Dard Kuchh Aise Hote Hain Ta-Umr Rulane Wale.

 

  • वक़्त हर ज़ख़्म का मरहम तो नहीं बन सकता,
    दर्द कुछ ऐसे होते हैं, ता-उम्र रुलाने वाले।

 

  • Mohabbat Khubsurat Hogi… Kisi Aur Duniya Mein,
    Idhar Toh Hum Par Jo Gujri Hai Hum Hi Jante Hain.

 

  • मोहब्बत ख़ूबसूरत होगी किसी और दुनिया में,
    इधर तो हम पर जो बीती है हम ही जानते हैं।

 

  • Zindgi Ko Mile Koyi Hunar Aisa Bhi Ai Khuda,
    Sab Mein Maujood Bhi Rahe Aur Fanaah Ho Jaye.

 

  • जिंदगी को मिले कोई हुनर ऐसा भी ऐ खुदा,
    सबमे मौजूद भी रहे और फना हो जाए।

 

  • Har Zakhm Kisi Thokar Ki Meharbani Hai,
    Meri Zindagi Ki Bas Yahi Ek Kahani Hai,
    Mita Dete Tere Diye Har Dard Ko Seene Se,
    Par Ye Dard Hi To Usaki Aakhiri Nishani Hai.

 

  • हर ज़ख़्म किसी ठोकर की मेहरबानी है,
    मेरी ज़िंदगी की बस यही एक कहानी है,
    मिटा देते तेरे दिए हर दर्द को सीने से,
    पर ये दर्द ही तो उसकी आखिरी निशानी है।

 

  • Wo Naraz Hain Hamse Ki Ham Kuchh Likhte Nahin,
    Kahan Se Layen Lafz Jab Hamko Milte Nahin,
    Dard Ki Zubaan Hoti To Bata Dete Shayad,
    Wo Zakhm Kaise Dikhaye Jo Dikhte Nahin.

 

  • वो नाराज़ हैं हमसे कि हम कुछ लिखते नहीं,
    कहाँ से लाएं लफ्ज़ जब हमको मिलते नहीं,
    दर्द की ज़ुबान होती तो बता देते शायद,
    वो ज़ख्म कैसे दिखाए जो दिखते नहीं।

 

  • Dil Ke Dard Chhupana Bahut Mushkil Hai,
    Toot Kar Phir Muskurana Bahut Mushkil Hai,
    Kisi Apne Ke Saath Door Tak Jao Phir Dekho,
    Akele Laut Kar Aana Kitna Mushkil Hai.

 

  • दिल के दर्द छुपाना बहुत मुश्किल है,
    टूट कर फिर मुस्कुराना बहुत मुश्किल है,
    किसी अपने के साथ दूर तक जाओ फिर देखो,
    अकेले लौट कर आना कितना मुश्किल है।

 

  • Kho Jao Mujh Mein To Maloom Ho Ki Dard Kya Hai?
    Ye Wo Kissa Hai Jo Juban Se Bayan Nahi Hota.

 

  • खो जाओ मुझ में तो मालूम हो कि दर्द क्या है?
    ये वो किस्सा है जो जुबान से बयाँ नही होता।

 

  • Tajurbe Ne Ek Hi Baat Sikhai Hai,
    Naya Dard Hi Purane Dard Ki Davai Hai.

 

  • तजुर्बे ने एक ही बात सिखाई है,
    नया दर्द ही पुराने दर्द की दवाई है।

 

  • Uske Na Hone Se Kuchh Bhi Nahi Badla Mujh Mein Dosto,
    Bas Jahan Pahle Dil Rahta Tha, Bahan Ab Sirf Dard Rahta Hai.

 

  • उसके ना होने से कुछ भी नहीं बदला मुझ में दोस्तों,
    बस जहाँ पहले दिल रहता था, वहाँ अब सिर्फ दर्द रहता है।

 

  • Yeh Gazalon Ki Duniya Bhi Badi Ajeeb Hai,
    Yahan Aansuon Ke Bhi Jaam Banaye Jate Hain,
    Kah Bhi De Agar Dard-E-Dil Ki Daastaan,
    Phir Bhi Waah-Waah Hi Pukaara Jaata Hai.

 

  • यह ग़ज़लों की दुनिया भी बड़ी अजीब है,
    यहाँ आँसुओं के भी जाम बनाये जाते हैं,
    कह भी दे अगर दर्द-ए-दिल की दास्तान,
    फिर भी वाह-वाह ही पुकारा जाता है।

 

  • Nikle Ham Kahan Se Aur Kidhar Nikle,
    Har Mod Pe Chaunkaye Aisa Apna Safar Nikle,
    Toone Samjhaya Kya Ro-Ro Ke Apni Baat,
    Tere Hamdard Bhi Lekin Bade Be-Asar Nikle.

 

  • निकले हम कहाँ से और किधर निकले,
    हर मोड़ पे चौंकाए ऐसा अपना सफ़र निकले,
    तूने समझाया क्या रो-रो के अपनी बात,
    तेरे हमदर्द भी लेकिन बड़े बे-असर निकले।

 

  • Dard Mein Is Dil Ko Tadapte Dekha,
    Apne Samne Har Rishte Ko Bikharte Dekha,
    Kitne Pyaar Se Sajai Thi Khwabon Ki Duniya,
    Use Apni Aankon Ke Samne Ujadte Hue Dekha.

 

  • दर्द में इस दिल को तड़पते देखा,
    अपने सामने हर रिश्ते को बिखरते देखा,
    कितने प्यार से सजाई थी ख्वाबों की दुनिया,
    उसे अपनी आँखों के सामने उजड़ते हुए देखा।

 

  • Mere Dil Ke Dard Ko Kisne Dekha Hai,
    Mujhe Bas Mere Khuda Ne Tadapte Dekha Hai,
    Ham Tanhai Mein Baithe Rote Hain,
    Logon Ne Hame Mahafil Mein Hanste Dekha Hai.

 

  • मेरे दिल के दर्द को किसने देखा है,
    मुझे बस मेरे खुदा ने तड़पते देखा है,
    हम तन्हाई में बैठे रोते हैं,
    लोगों ने हमे महफ़िल में हँसते देखा है।

 

  • Tere Paas Aane Ko Jee Chahta Hai,
    Phir Se Dard Sahne Ko Jee Chahta Hai,
    Aazma Chuke Hain Ab Zamane Ko Ham,
    Bas Tujhe Aazmane Ko Jee Chahta Hai.

 

  • तेरे पास आने को जी चाहता है,
    फिर से दर्द सहने को जी चाहता है,
    आज़मा चुके हैं अब ज़माने को हम,
    बस तुझे आज़माने को जी चाहता है।

 

  • Toote Jo Dil To Dukh Hota Hai,
    Karke Pyar Use Dil Ab Bhi Rota Hai,
    Dard Ka Ehsaas Hota Hai Sirf Usko,
    Jo Muhabbat Ko Paane Ke Baad Khota Hai.

 

  • टूटे जो दिल तो दुःख होता है,
    करके प्यार उसे दिल अब भी रोता है,
    दर्द का एहसास होता है सिर्फ उसको,
    जो मुहब्बत को पाने के बाद खोता है।

 

  • Ise Ittefaak Samajho Ya Dard Bhari Hakeekat,
    Aankh Jab Bhi Nam Hui Wajah Koi Apna Hi Tha.

 

  • इसे इत्तेफाक समझो या दर्द भरी हकीकत,
    आँख जब भी नम हुई वजह कोई अपना ही था।

 

  • Jo Taar Se Nikli Hai Wo Dhun Sabne Suni Hai,
    Jo Saaz Par Beeti Hai Wo Dard Kis Dil Ko Pata.

 

  • जो तार से निकली है वो धुन सबने सुनी है,
    जो साज़ पर बीती है वो दर्द किस दिल को पता।

 

  • Jab Laga Tha Khanjar To Itana Dard Na Hua,
    Jakhm Ka Ehsaas Tab Hua Jab Chalane Wale Pe Najar Padi.

 

  • जब लगा था खंजर तो इतना दर्द ना हुआ,
    जख्म का एहसास तब हुआ जब चलाने वाले पे नजर पड़ी।

 

  • Aaina Aaj Phir Rishawat Leta Pakda Gaya,
    Dil Mein Dard Tha Chehra Hansta Hua Pakda Gaya.

 

  • आईना आज फिर रिशवत लेता पकड़ा गया,
    दिल में दर्द था चेहरा हंसता हुआ पकडा गया।

 

  • Zindagi Ki Rahon Mein Muskrate Raho Hamesha,
    Udas Dilon Ko Hamdard To Milte Hain, Hamsafar Nahin.

 

  • जिन्दगी की राहों में मुस्कराते रहो हमेशा,
    उदास दिलों को हमदर्द तो मिलते हैं, हमसफ़र नहीं।

 

  • Ab Bas Bhi Kar Zalim, Kuchh Toh Raham Kha Mujh Par,
    Chali Ja Meri Najar Se Dur Kahin Main Shayar Na Ban Jaaun.

 

  • अब बस भी कर ज़ालिम, कुछ तो रहम खा मुझ पर,
    चली जा मेरी नज़र से दूर कहीं मैं शायर ना बन जाऊं।

 

  • Kis Se Paimane Wafa Baandh Rahi Hai Bulbul,
    Kal Na Pehchan Sakegi Gul-e-Tar Ki Surat.

 

  • किससे पैमाने वफ़ा बाँध रही है बुलबुल,
    कल न पहचान सकेगी गुल-ए-तर की सूरत।

 

  • Jab Fursat Mile Chaand Se Mere Dard Ki Kahani Poochh Lena,
    Sirf Ek Woh Hi Hai Mera Humraj Tere Jaane Ke Baad.

 

  • जब फुरसत मिले चाँद से मेरे दर्द की कहानी पूछ लेना,
    सिर्फ एक वो ही है मेरा हमराज तेरे जाने के बाद।

 

  • Log Kahte Hain Hum Muskrate Bahut Hain,
    Aur Hum Thak Gaye Dard Chhupate Chhupate.

 

  • लोग कहते है हम मुस्कुराते बहुत है,
    और हम थक गए दर्द छुपाते छुपाते।

 

  • Shama Jao Mujh Mein To Pata Lage Ki Dard Kya Hai?
    Ye Vo Kissa Hai Jo Jubaan Se Bayaan Nahee Hota.

 

  • शमा जाओ मुझ में तो पता लगे कि दर्द क्या है?
    ये वो किस्सा है जो जुबान से बयाँ नही होता।

 

  • Ham Bure Kaise Ho Gaye Dosto…
    Dard Likhte Hain Kisi Ko Dete To Nahi.

 

  • हम बुरे कैसे हो गए दोस्तो…
    दर्द लिखते हैं किसी को देते तो नही।

 

  • Kya Baat Sikhai Hai Tajurve Ne Hame…
    Ek Naya Dard Hi Purane Dard Ki Dawayi Hai.

 

  • एक बात सिखाई है… ताजुर्वे ने हमें,
    एक नया दर्द ही पुराने दर्द की दवा है

 

  • Bahut Dard Hai Ai Jaan-e-Adaa Tere Ishq Mein,
    Kaise Kah Doon Ki Tujhe Wafa Nibhani Nahi Aati.

 

  • बहुत दर्द हैं ऐ जान-ए-अदा तेरे इश्क में,
    कैसे कह दूँ कि तुझे वफ़ा निभानी नहीं आती।

 

  • Tanhai Me Gujar Jayen Ham Par Hazaron Sadme
    Aankh Mein Aansu Bhi Aayein Yeh Jaroori To Nahi.

 

  • तन्हाई में गुजर जाएँ हम पर हजरों सदमे,
    आँख में आँसू भी आयें ये ज़रूरी तो नहीं।

 

  • Bura Ye Nahin Laga Ke Tumhein Aziz Koi Aur Hai,
    Dard Tab Hua Jab Najar Andaz Kiye Gaye.

 

  • बुरा ये नहीं लगा कि तुम्हें अज़ीज़ कोई और है,
    दर्द तब हुआ जब हम नजर अंदाज़ किए गए।

 

  • Mere Andar Jhank Kar dekho Tukado Me Milunga,
    Ye Hasta Hua Chehra To Dikhane Ke Liye Hai.

 

  • मेरे अन्दर झाँक कर देखो टुकड़ों में मिलूंगा,
    ये हँसता हुआ चेहरा तो दिखाने के लिए है।

 

  • Maine Nahi Chaha Hai Tumse Apni Wafaon Ka Sila,
    Bas Dard Dete Raha Karo Mujhe Mohabbat Badti Jayegi.

 

  • मैंने नहीं चाहा है तुमसे अपनी वफ़ाओं का सिला,
    बस दर्द देते रहा करो मुझे मोहब्बत बढ़ती जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.